Onlineforms.in

UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana 2020

 

UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana 2020

Uttar Pradesh Shramik Card /Lebor Card/Mazdoor Card

  • योजना का नाम :- श्रमिक भरण पोषण योजना 
  • शुरूआत की तारीक :- 21 मार्च 2020
  • शुरू की गयी :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
  • उद्देश्य :- राज्य के मजदूरों को भत्ता प्रदान करना
  • लाभार्थी :- उत्तर प्रदेश राज्य के मजदूर परिवार

उत्तर प्रदेश दिहाड़ी मजदूर भरण पोषन योजना के बारे में

(About UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana)

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana की शुरुआत की है यह योजना दुनिया में फैले कोरोनो वायरस से संबंधित है,क्योंकि सभी जानते हैं कि कोरोनो वायरस के कारण देश में लोकडाउन की स्थिति पैदा होती जा रही है

ऐसे में राज्य सरकार ने नागरिकों से यह अपील की है कि वह घर से बाहर ना निकले तथा बहुत ज्यादा जरुरी होने पर ही घर से निकले।  ऐसे हालात  में परेशानीयां उन लोगों के लिए खड़ी हो जाती हैं जो कि रोज की मजदूरी से अपना घर चलाते हैं।

इन लोगों के लिए उप्र  सरकार ने 1000 रु देने का फैसला किया है ताकि वे रोजमर्रा का जीवन बिना किसी परेशानी के कर सके। योगी सरकार दिहाड़ी मजदूरों के लिए मनी एट होम (Money At Home) योजना लेके आयी है।

निजी कामकाज, सरकारी कार्यालय तथा  रोजमर्रा के काम धंधो के रुक जाने से वे लोग जो रोज काम कर 300 से 400 रुपए कमाते थे और अपना घर चलाते है उनको मूलभूत सुविधाओं से सम्बंधित खर्च के लिए धन के अभाव में असुविधा न हो ।

ऐसे मजदूर वर्ग के लोगो के लिए, खासकर दिहाड़ी मज़दूर वर्ग के लिए जिनका जीवनयापन रोजाना की कमाई से होता है उनके लिए UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana चलायी गयी है।

इस समस्या से प्रदेशवाशियो को बचने के लिए राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश दिहाड़ी मज़दूर भरण पोषण योजना द्वारा दिहाड़ी करने वाले मज़दूरों को उनके बैंक अकाउंट में RTGC के माध्यम से सहायता राशि सीधे उनके कहते डाली जाएगी।

जिसके द्वारा वे अपने परिवार का भरण पोषण कर सके। मुख्यमंत्री का कहना है कि उप्र  के श्रम विभाग में  15 Lakh पंजीकृत मजदूर हैं इन सभी पंजीकृत मजदूरों को राज्य  सरकार द्वारा हज़ार-हज़ार रूपये की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में  प्रदान करेंगे।

RTGS के द्वारा आपके खाते में इस प्रकार डाले जायेंगे रूपए  :-

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जानकारी दी कि वित्त मंत्रालय की अध्यक्षता में कमेटी की नियुक्त की गयी है

कमेटी आगामी तीन दिनों के अंदर रिपोर्ट पेश करेगी, जिसने प्रदेश के मज़दूरों को जारी की जाने वाली धनराशि इत्यादि पर सम्पूर्ण विस्तृत जानकारी तथा सुझाव दिए जायेंगे। इस कमेटी में कृषिमंत्री और श्रममंत्री भी शामिल किये गए है।

नगर विकास के 16 लाख सफाई कर्मचारी ( दिहाड़ी ), 58000 ग्राम सभाओं के 20-20 मजदूर लिए जाएंगे। इस हिसाब से 80 लाख मजदूरों की संख्या हो जाएगी।कोरोना वायरस से प्रभावित मजदूरों को UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana के अंतर्गत खाते में पैसा देने का फैसला किया गया है

UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana के पात्र कौन होंगे ?

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के सामने दिए गए ब्यान के अनुसार वे लोग जो रिक्शा चलाते है, ठेला, ठेलिए , खेमचा तथा रोज कमाने खाने का काम वालो के साथ साथ UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana में वे लोग भी शामिल किये गए है

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • श्रम विभाग में पंजीकृत होना चाहिए।
  • आवेदन करने के लिए मजदूर और दिहाड़ी होना चाहिए।

जैसे कि – किसी भी निर्माण कार्य में कार्यरत गैर सरकारी व सरकारी मज़दूर तथा जिनका लेबर कार्ड बना हुआ है इन लोगो को सीधे बैंक अकाउंट में रुपयों का भुगतान RTGS के माध्यम से किया जायेगा।

योजना के तहत दिया जाने वाला लाभ सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में  ट्रांसफर किया जायेगा ।इसलिए  आवेदक का बैंक अकॉउंट होना अनिवार्य है साथ ही बैंक अकाउंट, आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है। 

अगर आपके पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं में से कोई भी पंजीकृत दस्तावेज या दस्तावेजसर्टिफिकेट नहीं है तो आपको भी इस UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana का लाभ नहीं मिलेगा।

रिक्शा, ठेला, खेमचा, ठेलिया तथा दिहाड़ी मज़दूरों को कैसे मिलेगा योजना का लाभ ?

 

राज्य सरकार ने इन सभी खेमचा , ठेला , रिक्शा चलने वालों तथा दिहाड़ी करने वाले मज़दूरों का पहले से ही रिकॉर्ड तैयार कर लिया है अब आपको UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana का लाभ लेने के लिए भागदौड़ करने की कोई जरुरत नहीं पड़ेगी।

यदि आपके बैंक अकाउंट की जानकारी राज्य सरकार के पास मौजूद है तो UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana के  रूपए सीधे आपके बैंक अकाउंट के भेज दी जाएगी अन्यथा सम्बंधित विभाग के द्वारा आपको अपना बैंक अकाउंट प्रदान करने के लिए कहा जायेगा।

उत्तर प्रदेश के श्रमिकों / दिहाड़ी मज़दूरों को ऐसे मिलेगा लाभ :-

 

मित्रों जैसा ही हम सब को पता है कि उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा प्रत्येक दिहाड़ी मजदूरी करने वाले व्यक्ति को एक श्रमिक कार्ड /लेबर कार्ड /मजदूर कार्ड (अलग-अलग नामों से जाना जाता है ) दिया जाता है जिसके लिए कोई भी मज़दूर 40 रूपए का भुगतान करके ऑनलाइन माध्यम से बनवा सकता है

क्योंकि उप्र सरकार के पास इन मज़दूर का डाटा पहले से ही मौजूद है सरकार के पास इन लोगों का डेटा और बैंक अकाउंट की डिटेल्स  सुरक्षित रखी हुई है उत्तर प्रदेश श्रमिक/मजदूर भत्ता योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के मज़दूरों को ही दिया जायेगा। 

इसलिए आपको CORONA VIRUS सहायता राशि के रूप में 1000 रू के लिए अलग से आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘हमने प्रदेश के अंदर आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं।

“कोरोना वायरस से घबराने की नहीं, चुनौतियों से लड़ने की जरूरत है” CM कहा कि मजदूरों, ठेला लगाने वालों आदि को तुरंत राशन उपलब्ध कराने का फैसला किया गया है। UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana  में उन मजदूरो को शामिल किया जा रहा है जो श्रम विभाग,ग्राम सभाओं और नगर विकास में पंजीकृत हैं।

अगर आपके पास श्रमिक कार्ड नहीं है तो दिए गए लिंक पर क्लिक करके आवेदन कर सकते है।

सरकारी व निजी कर्मचारियों को करना होगा घर पर ही ऑफिस का काम :-

 

कैबिनेट बैठक में सरकार ने फैसला किया है कि दफ्तरों में कर्मचारियों की भीड़ को काम करने हेतु उन्हें घर से ही काम करने की सुविधा दी जाएगी तथा सभी निजी कंपनियों को भी अपने कर्मचारियों को घर पर ही काम करने ही सुविधा प्रदान करने के आदेश दिए है।

साथ ही सभी दफ्तरों में स्टाफ के 50% कर्मचारियों को ऑफिस में बुलाले के आदेश दिए है।

UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana

नहीं कटेगा किसी भी कर्मचारी का वेतन :-

 

सरकार की ओर आदेश दिया गया है कि कोरोना वायरस के कारण किसी भी हाल में कर्मचारियों की छुट्टियों का वेतन नहीं काटा नहीं जायेगा। इसके साथ ही निजी कंपनियों को भी इस आदेश का पालन करने का फरमान जारी कर दिया गया है

अगर संभव हो तो वे अपने कर्मचारी को दफ्तर में बुलाने की बजाये घर पर ही काम करने की सुविधा मुहईया कराई जाए।

मनरेगा,बी पी एल और पेंशन धारियों को लाभ :-

 

मनरेगा के अंतर्गत काम करने वाले मजदूरों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने का भी निर्णय लिया गया है योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य के 1.65 करोड़ परिवारों को अन्न उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें  बीपीएल परिवारों को 15 किलो चावल और 20 किलो गेहूं मुफ्त में वितरित किया जाएगा ।

साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार ने  पेंशन धारियों के लिए घोषणा की गयी  है कि जितने भी उत्तर प्रदेश में पेंशन धारी हैं उनको अप्रैल तथा मई की पेंशन का भुगतान अप्रैल में ही कर दिया जाएगा।

UP Dihadi Mazdoor Bharan Poshan Yojana

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी 

यूपी भरण पोषण योजना धनराशि 

 

उत्तर प्रदेश  सरकार द्वारा दिहाड़ी मजदूर भत्ता योजना के तहत प्रदेश के मजदूरों ( खोमचे वाले, ई-रिक्शा चालक और पोर्टर्स, रेहड़ी वाले,रिक्शा चालक ,निर्माण कार्य करने वाले , फेरी वाले  ) इत्यादि  के खातों में DBT  के माध्यम से 1000 रूपये की धनराशि की किश्त स्थान्तरित की गयी है ।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना के अंतर्गत कुल 20 लाख लाभार्थियों खाते में धनराशि भेजी गई है उत्तर प्रदेश सरकार ने मजदूरों और छोटे विक्रेताओं को राहत देने के लिए व्यवस्था की है  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रत्येक चार श्रमिकों को 1,000 रुपये के प्रतीकात्मक चेक वितरित किए।

इसी प्रकार राज्य के कुल मिलाकर  35 लाख मजदूर लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में डीबीटी (डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर ) के जरिये वित्तीय सहायता प्रदान की। 

 

error: !! जय माता दी !!